श्रीकांत शर्मा ऊर्जा मंत्री अपने आवास पर लगवाया स्मार्ट प्रीपेड मीटर ,कहा- 24 घंटा बिजली देना प्राथमिकता

उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन में पीएफ घोटाला के शोर के बीच प्रदेश के ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अपने सरकारी आवास पर स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगावाया। इसके साथ ही उन्होंने इस योजना का आगाज किया। अब प्रदेश की सरकारी कालोनी व कार्यालय के साथ ही मंत्री, विधायक व अधिकारियों के सरकारी आवास पर स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जाएंगे।

उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया कि सरकार उत्तर प्रदेश के हर घर को 24 घंटे सस्ती दर पर बिजली देना चाहती है, लेकिन उत्तर प्रदेश में हजारों करोड़ का बिजली बिल बकाया होने से हम चाहकर भी बिजली उपभोक्ताओ को बेहतर सुविधा नहीं दे पा रहे हैं। बिजली विभाग का आम उपभोक्ताओं के साथ सरकारी विभागों पर भी हजारों करोड़ का बकाया है। जिसके चलते सबसे पहले यूपी के नेताओं, अधिकारियों और सरकारी दफ्तरों में प्री-पेड मीटर लगाने की योजना शुरू की है। सरकार बिजली चोरी रोकने के लिए सूबे के 75 जिलों में 65 बिजली थाने खोलकर बिजली चोरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है। साथ ही किसानों और गरीब बिजली उपभोक्ताओं के लिए भी कई हितकारी योजनाएं चलाई है।

उन्होंने सभी सांसदों, विधायकों, अन्य जनप्रतिनिधियों और पार्टी पदाधिकारियों से भी आग्रह किया कि वह अपने घर पर स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाकर आम लोगों में जागरूकता बढ़ाएं। जिससे सभी इस अभियान में बढ़चढ़कर प्रतिभाग कर सकें। ऊर्जा मंत्री ने बताया कि प्री-पेड मीटर सबसे पहले उत्तर प्रदेश के सभी नेताओं और अधिकारियों के सरकारी आवासों पर लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि नेताओं और अधिकारियों के सरकारी आवासों पर ही करीब 13 हजार करोड़ का बिजली बिल बकाया है। नेता,अधिकारियों और सरकारी विभागों का बिजली बिल नियमित जमा न किए जाने से लगातार बढ़ता जा रहा है। जिससे उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन की वित्तीय स्थित बदहाल हो गई है। खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है।

श्रीकांत शर्मा ने कहा कि गरीब के घर में 24 घंटे सस्ती बिजली पहुंचाना सरकार की प्राथमिकता है। इसके लिए नियमित बिलों का भुगतान करना जरूरी है। उन्होंने प्रदेश के विद्युत उपभोक्ताओं से आग्रह किया कि वह सरकार के इस अभियान का हिस्सा बने। उपभोक्ताओं के समय से चुकाए गए बिल से ही सस्ती बिजली पहुंचाने का संकल्प सिद्ध हो सकेगा।

उन्होंने बताया कि बिजली बकाया जमा कराने के लिए 4 किलोवाट तक के उपभोक्ताओं के लिए आसान किश्त योजना चलाई जा रही है। जिसका लाभ उठाकर उपभोक्ता अपना बिल जमाकर सरचार्ज से छूट पा सकते हैं। श्रीकांत शर्मा ने एक और जहां नेताओं, अधिकारियों और सरकारी दफ्तरों के बाद हाई लाइन लास वाली जगहों पर भी प्रीपेड मीटर लगाए जाने की जानकारी दी, वहीं दूसरी ओर 15 प्रतिशत से कम लाइन लास वाले शहरों, कस्बों और गांवो में भी 24 घंटे के भीतर 24 घंटे बिजली आपूर्ति भी शुरू कर दिए जाने का दावा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *