प्रियंका गांधी के महासचिव बनते ही PM मोदी का रिएक्शन- कुछ लोगों के लिए परिवार ही पार्टी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी पार्टी में कोई भी निर्णय इस बात के नही होता कि एक व्यक्ति या एक परिवार क्या चाहता है.  जबकि देश में ज्यादातर केस में कहा जाता है कि परिवार ही पार्टी है.

लोकसभा चुनावों के ऐन पहले देश की राजनीति में प्रियंका गांधी की दस्तक पर तमाम सियासी हलकों से प्रतिक्रिया आ रही है. कांग्रेस में महासचिव के पद पर प्रियंका गांधी की एंट्री पर इशारों-इशारों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ लोगों के लिए परिवार ही पार्टी है, जबकि हमारे यहां पार्टी ही परिवार है. उन्होंने कहा कि देश के कुछ अन्य राजनीतिक दल कांग्रेस गोत्र के हैं. इसलिए जब हम कांग्रेस मुक्त देश की बात करते हैं, तब हमारा विरोध उसी संस्कृति से ही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेरा बूथ, सबसे मजबूत अभियान के तहत महाराष्ट्र के बारामती, गढ़चिरौली, हिंगोली, नांदेड़ और नंदुरबार के बूथ कार्यकर्ताओं संबोधित करते हुए कांग्रेस द्वारा एनसीपी प्रमुख शरद पवार का अपमान करने पर आलोचना की. पीएम मोदी ने कहा कि शरद पवार का एक ही दोष था कि वे कभी कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ना चाहते थे. कांग्रेस में एक परिवार का विरोध अपराध है. आज वही शरद पवार कांग्रेस से जुड़ गए हैं.

बता दें कि महाराष्ट्र का बारामती एनसीपी प्रमुख शरद पवार का गढ़ रहा है. अब उनकी बेटी सुप्रिया सुले इस सीट का प्रतिनिधित्व करती हैं. साल 1999 में जब सोनिया गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया तो उनके विदेशी मूल को मुद्दा बनाकर शरद पवार, तारिक अनवर और पीए संगमा जैसे कद्दावर कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस से अलग होकर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) का गठन किया. लेकिन 2004 के लोकसभा चुनाव में जब कांग्रेस पार्टी सबसे बड़ा दल बनकर उभरी तो NCP यूपीए सरकार का हिस्सा बन गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *