मनीलॉन्ड्रिंग की खबर से एस्सेल ग्रुप के शेयर 33% तक गिरे, मार्केट कैप 14000 करोड़ घटा

आरोप है कि सुभाष चंद्रा का एस्सेल ग्रुप नोटबंदी के बाद मनीलॉन्ड्रिंग में शामिल था ग्रुप की सभी 5 लिस्टेड कंपनियों के शेयर गिरे, एस्सेल प्रोपैक में 15 साल की सबसे बड़ी गिरावट

नई दिल्ली. सुभाष चंद्रा के एस्सेल ग्रुप की शेयर बाजार में लिस्टेड 5 कंपनियों का मार्केट कैप शुक्रवार को 14,000 करोड़ रुपए घट गया। यह खबर आई कि एस्सेल ग्रुप नवंबर 2016 में हुई नोटबंदी के बाद काला धन सफेद करने में शामिल थी। इसके बाद ग्रुप की सबसे बड़ी कंपनी जी एंटरटेनमेंट का शेयर इंट्रा-डे में 33% तक लुढ़क गया। क्लोजिंग 26.4% गिरावट के साथ 319.35 रुपए पर हुई। इसका मार्केट कैप घटकर 30,672 करोड़ रह गया। डिश टीवी का शेयर 33% गिरावट के साथ बंद हुआ।

सूत्रों के मुताबिक कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के अधीन एजेंसी एसएफआईओ नित्यांक इन्फ्रा कंपनी की जांच कर रही है। इसने नोटबंदी के बाद एस्सेल ग्रुप में 3,000 करोड़ लगाए थे। नित्यांक और कुछ शेल कंपनियों ने एस्सेल के साथ 2015 से 2017 के बीच लेनदेन किया था। नित्यांक ने नवंबर 2016 में वीडियोकॉन और एस्सेल के बीच डील में भी भूमिका निभाई थी।

कंपनीशेयर में गिरावट
डिश टीवी32.74%
जी एंटरटेनमेंट26.43%
जी लर्न18.49%
एस्सेल प्रोपैक16.08%
जी मीडिया9.05%

चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने माफी मांगी, बोले नकारात्मक तत्वों के कारण शेयर गिरे
शेयर में गिरावट के बाद सुभाष चंद्रा ने बयान जारी किया। उन्होंने कहा कि कुछ नकारात्मक तत्वों के कारण शेयर में यह गिरावट आई है। चंद्रा ने यह कहते हुए बैंकरों, एनबीएफसी और म्यूचुअल फंडों से माफी भी मांगी कि ग्रुप उनकी उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा। उन्होंने कहा, ‘भारत में किसी भी प्रमोटर ने कर्ज चुकाने के लिए अपने क्राउन (मुख्य कंपनी) को नहीं बेचा होगा। इसकी प्रक्रिया अभी चल रही है। लेकिन कुछ तत्व हैं जो इसे सफल नहीं होने देना चाहते। मैं यह नहीं कहता कि मुझसे कोई गलती नहीं हुई। लेकिन मैं हमेशा की तरह नतीजों का सामना करने के लिए तैयार हूं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *