भारत से दुश्मनी पाकिस्तान को पड़ी भारी, तरस गया इस चीज के लिए

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद पाकिस्तान ने भारत से कारोबारी रिश्ते ख़त्म कर दिए थे. जिसका असर अब पाकिस्तान के उद्योगों को झेलना पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि पाकिस्तान कपास की भारी कमी से जूझ रहा है. जिस कारण उसका कपड़ा उद्योग ठप पड़ गया है

कपास की कमी से निपटने के लिए पाकिस्तान ने अमेरिका, स्पेन और ब्राज़ील से कपास का आयात शुरू कर दिया है, जो उन्हें भारत से कपास आयात करने की तुलना में बहुत महंगा पड़ रहा है क्योंकि सीमावर्ती देश होने के कारण पाकिस्तान को भारत से आयात करने के लिए ट्रांसपोर्टेशन कम लगता है.

पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान में कपास के उत्पादन में 35 प्रतिशत की गिरावट आई है और भारत से व्यापार बंद होने के कारण कपड़ा उद्योगों में कपास नहीं पहुंच रहा है.

भारत से कपास का आयात करना पाकिस्तान को सस्ता पड़ता है. लेकिन व्यापार बंद होने के कारण पाकिस्तान के व्यापारी कपास नहीं खरीद पा रहे हैं.

इस समय भारतीय कपास का भाव करीब 69 सेंट प्रति पौंड है, जबकि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कपास का भाव 74 सेंट प्रति पौंड है. इस लिहाज से भी पाकिस्तान के लिए भारत से कपास का आयात करना सस्ता पड़ सकता है.

वहीं, भारतीय कारोबारी इस बार कपास के उत्पादन से बेहद खुश हैं. बताया जा रहा है कि कपास का उत्पादन इस साल पिछले साल से ज्यादा है. कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अनुमान के अनुसार, भारत में इस साल कॉटन का उत्पादन 354 लाख बेल्स (गांठ) रह सकता है. जबकि पिछले साल देश में कॉटन का उत्पादन 312 लाख गांठ था.

कहा यह भी जा रहा है कि यदि पाकिस्तान दोबारा भारत से व्यापार शुरू करता है तो इस साल वह भारत से ज्यादा कपास खरीद सकता है. अमेरिकी एजेंसी यूएसडीए की रिपोर्ट ने भी पाकिस्तान में कपास का उत्पादन पिछले साल की तुलना में आठ फीसदी कम बताया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *