लोगों को सताने लगी बिहार कि सर्दी, न्यूनतम तापमान 10 डिग्री तक पहुंचा

पूरे उत्तर भारत में ठंड का प्रकोप बढ़ने का असर बिहार में भी दिखने लगा है. राजधानी पटना समेत प्रदेश के कई जिलों में न्यूनतम तापमान में आई गिरावट से लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है.

बिहार में सर्दी का सितम अब सताने लगा है. न्यूनतम तापमान घटकर 10 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया है. इस कारण बिहार के कई जिलों में पिछले दो दिन से बढ़ी ठंड ने लोगों का घर से निकलना मुश्किल कर दिया है. धूप नहीं निकलने से भी लोगों को ठंड ज्यादा सता रही है. मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक हिमालय क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ की वजह से पिछले 48 घंटे में 3 से 4 डिग्री न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है. मौसम वैज्ञानिक आनंद शंकर भी मानते हैं कि ठंड देर से जरूर आई है, लेकिन अगले 2 दिनों तक इसमें तेजी से वृद्धि होगी. उन्होंने कहा कि 10 दिनों तक ठंड का असर बना रहेगा.

सुबह होते ही कनकनी या गलन का अहसास हो रहा है. लोगों को ठंडी हवा की मार झेलनी पड़ रही है. वहीं शाम होते ही आसमान में कोहरे भी छा जाते हैं. मौसम वैज्ञानिक के मुताबिक कम होते तापमान की वजह से हवा में नमी की मात्रा 91 प्रतिशत पहुंच चुकी है, जिसकी वजह से सिहरन और गलन महसूस हो रही है. मौसम विभाग का कहना है आने वाले दो दिनों में यही स्थिति बनी रहेगी. दो दिनों तक धूप निकलने की संभावना कम है. मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि अभी बह रही हवा से कोल्ड-वेव नहीं, बल्कि कोल्ड-डे की वजह से है.

अधिकतम तापमान की बात करें तो राजधानी पटना का तापमान 20.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है. वहीं, न्यूनतम तापमान भी अगले सात दिनों में 7 से 8 डिग्री तक पहुंचने का अनुमान है. ठंड में सबसे ज्यादा मुसीबत गरीबों को झेलनी पड़ रही है, जिनको खुले आसमान में रात काटनी पड़ रही है. हालांकि जिला प्रशासन का दावा है कि पटना में 14 जगहों पर अस्थायी रैन बसेरा की व्यवस्था कराई गई है, पर अभी तक अलाव का इंतजाम नहीं किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *