लाल मिर्च खाने में स्वाद ही नहीं बढ़ाती, बल्कि हार्ट अटैक को रोकने में भी कारगर है

साल 2015 में भी चीन की तरफ से एक ऐसा ही अध्ययन किया गया था, जिसमें यह दावा किया गया था कि मिर्च व्यक्ति का बचाव कई रोगों से करती है। भारत के अलावा चीन में लाल मिर्च खाने की प्रथा है।

किसी भी सब्जी में जरा सी लाल मिर्च स्वाद बढ़ा देती है लेकिन जहां बात सेहत की आती है तो आप इससे दूरी बना लेते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक लाल मिर्च आपकी उम्र घटाती नहीं बल्कि बढ़ाती है। इस खबर से वो लोग काफी खुश होंगे जो मसालेदार और चटपटे खाने के शौकीन हैं। अध्ययन में दावा किया गया है कि लाल मिर्च खाने से हार्ट अटैक या स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है।

अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी की पत्रिका में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक जो लोग हफ्ते में चार बार मसालेदार खाने का सेवन करते हैं, उनमें हार्ट अटैक की संभावना 40 फीसद तक कम रहती है वहीं ऐसे लोगों में मृत्यु का खतरा तीखा नहीं खाने वालों की अपेक्षा 23 फीसद तक कम होता है। दरअसल यह रिपोर्ट वैज्ञानिकों द्वारा कई हजार लोगों पर किए गए एक परीक्षण के आधार पर जारी की गई है। वैज्ञानिकों ने इटली के मोलिसे क्षेत्र में रहने वाले 22,811 लोगों पर परीक्षण किया और आठ साल तक इनपर लगातार रिसर्च की। इसके बाद जो परिणाम सामने आए, उसमें पाया गया कि लाल मिर्च का सेवन करने वाले वयस्कों में उम्र से पहले मृत्यु की संभावना कम होती है। वहीं दिल का दौरा पड़ने के खतरे को भी यह 40 फीसद तक कम कर देता है। 

इटली के पोज़िल्ली स्थित न्यूरोम्ड न्यूरोलॉजीकल इंस्टीट्यूट की एपीडेमियोलॉजिस्ट मारियालौरा बोनसिओ ने बताया कि यह एक दिलचस्प सच्चाई है कि मृत्यु का खतरा किसी व्यक्ति की डाइट पर निर्भर नहीं करता है। मसलन कोई व्यक्ति हेल्दी डाइट फॉलो करता है तो कोई कम हेल्दी डाइट लेता है लेकिन सभी के लिए लाल मिर्च एक रक्षात्मक प्रभाव रखती है।

इटली के वैरिज की के हाइजिन एंड पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर लिसिया इयाकोविलो ने बताया कि मिर्च हमारी खाद्य संस्कृति का एक बुनियादी घटक है। सदियों से इसके लाभकारी गुण मिर्च उपभोग के साथ जुड़े हुए हैं और अब साइंटिस्ट इनके फायदों के प्रमाण हमें दे रहे हैं। चीन और अमेरिका द्वारा किए गए अध्ययनों के आधार पर बताया गया है कि शिमला मिर्च की प्रजातियों के विभिन्न पौधे, दुनिया भर में अलग-अलग तरीकों से सेवन किए जाते हैं, जो हमारे स्वास्थ्य पर एक सुरक्षात्मक प्रभाव ड़ाल सकते हैं।

मिर्च के और भी कई फायदे हैं। जैसे सीएसआइआर-सेंट्रल फूड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट के रिसर्चर्स ने पाया कि मिर्च बॉडी फैट कम करने में काफी मददगार है। इसमें मौजूद सक्रिय घटक कैप्साइसिन में ओबेसटेटिन के प्रभाव को बढ़ाने की क्षमता होती है, जो फैट को कम करने में मदद करता है। जानकारी के लिए बता दें कि ओबेसटेटिन एक प्रकार का हॉर्मोन है जो खाना बंद करने का संकेत देता है। इसके अलावा मेटाबॉलिज्म तेज करने में भी मिर्च मदद करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *