निशाना साधा ममता बनर्जी ने- जब देश में भाजपा नहीं थी तो नहीं हुआ कुछ जो अब हो रहा है…

ममता ने कहा कि सीएए कानून असंवैधानिक, अनैतिक है। हम चाहते हैं कि हमारा यह आंदोलन देश का आंदोलन बने, सभी जाति, धर्म, वर्ग का आंदोलन बने लेकिन विरोध शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक होना चाहिए। आग लगाना आसान है, बूझाना कठिन, हम आग जलाएंगे नहीं आग बुझाने का काम करते हैं। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि सब आप बोलेंगे और हम सुनेंगे।

हावड़ा मैदान से कोलकाता के एस्प्लेनेड स्थित डोरिना क्रॉसिंग तक एंटी-सीएए और एंटी-एनआरसी जुलूस निकाला गया। जुलूस की समाप्ति के बाद हिंदी में बोलते हुए ममता ने कहा कि जब तक भाजपा देश में नहीं थी कुछ नहीं हुआ जो अब हो रहा है, अभी जम्मू काश्मीर, असम, त्रिपुरा, उत्तर-पूर्व दिल्ली जल रहा है। ऐसे में आप कह रहे हैं कि देश में एनआरसी ‘होगा ही होगा, क्या हो। आप ऐसा क्यों कह रहे हैं?

नागरिकता संशोधित कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ लगातार तीसरे दिन बुधवार को सड़क पर उतरीं तृणमूल प्रमुख व बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर जमकर निशाना साधा और कहा कि उन्होंने सबका साथ, सबका विकास नहीं बल्कि सबका सर्वनाश किया है। सुश्री बनर्जी ने कहा कि अब आप केवल भाजपा नेता नहीं हैं बल्कि केंद्रीय गृह मंत्री भी हैं, आपसे देश का ध्यान रखने और अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को नियंत्रित करने की अपील करूंगी। आपका काम आग बुझाना है। मैं आपसे कहूंगी कि आप यह सुनिश्चित करें कि देश संशोधित नागरिकता कानून की आग में ना जले।

ममता ने कहा कि अब अमित शाह कहते हैं कि आधार कार्ड नागरिकता का सबूत नहीं है, तो फिर हर चीज से उसे लिंक क्यों किया जा रहा है? आधार कार्ड नहीं चलेगा तो क्यों बनवाया गया? 6000 करोड़ रुपया आधार पर खर्च क्यों किया? वोटर कार्ड नहीं चलेगा, आधार कार्ड नहीं चलेगा तो क्या भाजपा की बोलती चलेगी। आधार नहीं, पैन नहीं, वोटर कार्ड नहीं तो आप नागरिक नहीं, यह क्या चल रहा है। मैंने इसके खिलाफ आंदोलन किया था कि नो आईडी कार्ड, नो वोट नहीं चलेगा और आज वे इसे लेकर फेक वीडियो फैला रहे हैं। सोशल मीडिया 90 फीसद फेक वीडियो मैनेजमेंट भाजपा के फंड से होता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके द्वारा लगातार सीएए का विरोध जारी रहेगा जब तक कि इस कानून को वापस नहीं ले लिया जाता। आगे के कार्यक्रम की घोषणा करते हुए सुश्री बनर्जी ने कहा कि गुरुवार को छात्र और युवाओं की जमायत रानी रासमणि रोड में होगी और वे इसमें हिस्सा लेंगी। इसके बाद शुक्रवार को पार्क सर्कस मैदान में पूर्वाह्न 3.30 बजे सीएए, एनआरसी के खिलाफ सभा आयोजित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शुक्रवार को हम आगे का कार्यक्रम निर्धारित करेंगे। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि 24 दिसंबर को तृणमूल की ओर से बड़ा जुलूस निकाला जाएगा और इसके बाद आगे दिल्ली में भी आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी। धर्मतल्ला में सभा को संबोधित करते हुए सीएम ने यह भी कहा कि आगे से आप जब जुलूस में शामिल हों तो संख, घंटा सब लेकर पहुंचे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *