दुनिया को सीखना चाहिए भारत की आधार प्रणाली,फायदा होगा बड़ा:बिल गेट्स

एक कहावत है कि शेर जब एक कदम पीछे लेता है तो इसका मतलब है कि वह लंबी छलांग लगाने की जुगत में है. भारत की अर्थव्यवस्था को ले कर दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बिल गेट्स भी कुछ ऐसी ही सोच रखते हैं. बिल गेट्स ने कहा कि 2020 के बाद से भारत विश्व में तेजी से विकसित होने वाला देश बन सकता है. 

बिल गेट्स फिर से अमेजन के फाउंडर जेफ बेसोज को पीछे छोड़ फिर ब्रह्मांड के सबसे अमीर व्यक्ति बन बैठे हैं. फिलहाल वह एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में तीन दिवसीय दौरे पर हैं.भारत में आधार व्यवस्था के मुख्य जनक माने जाने वाले नंदन नीलेकणि की बिल गेट्स ने खूब तारीफ की. उन्होंने कहा कि सेवाओं का लाभ उठाने के लिए जो यह प्रयास किया गया वह काबिल-ए-तारीफ है.

बिल गेट्स दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति हैं. पैसे कमाने और बनाने के तौर-तरीकों और अर्थव्यवस्था की नब्ज पहचानने में माहिर भी हैं.भारत में जो कैश में पड़ा कालाधन था या पैसों की जो जमाखोरी की गई थी, उन सब पर लगाम कसने में यह काफी लाभकारी भी रहा. भारत फिलहाल 5.3 फीसदी की रियल जीडीपी के साथ विकास की राह पर है. पिछले 5 सालों में सबसे कम है. बाजार में आई आर्थिक मंदी ने कई क्षेत्रों को रेंगने को मजबूर कर दिया है. लेकिन सरकार की ओर से उठाए गए कदम अगले 5-7 सालों में अर्थव्यवस्था के लिए कैप्सूल का काम करने जा रहे हैं.

भारत सरकार ने बाजार में पैसों की आवाजाही को प्रभावित न होने देन के लिए एक रोडमैप तैयार किया है. बैंक दरों में कटौती कर बाजार में लेन-देन को प्रभावित होने से बचाने की भी कोशिश की जा रही है.भारत सरकार का सबसे बड़ा कदम जिसमें भारत के टॉप और अनुभवी अर्थशास्त्रियों और विशेषज्ञों की एक पैनल तैयार की गई हैपैनल का काम भारत की आर्थिक नीतियों की समीक्षा करना और बेहतर परिणाम के लिए उन्हें ढ़ालना भी है. भारत की पूरी अर्थव्यवस्था फिलहाल 2.73 ट्रिलियन की है जिसे 2022 तक पांच ट्रिलियन तक पहुंचाने की रणनीति पर मोदी सरकार काम कर रही

बिल गेट्स अपने तीन दिनों के भारत यात्रा पर आर्थिक नीतियों को समझ पा रहे हैं. आधार प्रणाली के बारे में बात करते हुए उन्होंने नंदन नीलेकणि की भी जमकर तारीफ की. दूसरे देशों को भारत की इस प्रणाली को समझने और अपनाने की भी हिदायत दी.भारत में वित्तीय सेवाओं से लेकर दवा क्षेत्र में काफी अच्छे प्रयास किए जा रहे हैं.इसके अलावा टीकाकरण और विनिर्माण क्षेत्र में भी बेहतर और सबकी पहुंच संभव हो सके, उस पैटर्न पर काम किया जा रहा है, जो काबिल-ए-तारीफ है.

बिहार की राजधानी पटना में भी बिल गेट्स का एक कार्यक्रम था. इस दौरान वे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री से भी मिले.बिहार सरकार गरीबी को मिटाने और सात निश्चय योजना की भी उन्होंने खासी तारीफ की. पिछले 20 सालों में बिहार ने बीमारियों से लड़ने और मोर्टलिटी रेट पर काफी प्रगति हासिल की है. गरीबी को कम करने के लिए राज्य सरकार की योजनाओं से काफी सहयोग मिला है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *