एक स्कूल में जबरन उतरवाई लेगिंग्स छात्राओं की टीचरों ने, टिफिन टाइम में पहली क्लास की बच्ची बोली ..

पश्चिम बंगाल के एक इंग्लिश मीडियम स्कूल की छात्राओं की लेगिंग्स जबरन उतरवा दी गईं. क्योंकि इन छात्राओं की लेगिंग्स का रंग स्कूल ड्रेस से मैच नहीं कर रहा था. ऐसा कहना है इस छात्राओं के परिवार वालों का. ये मामला 18 नवंबर का है और अगले दिन स्कूल के बाहर माता-पिता ने स्कूल के खिलाफ प्रोटेस्ट किया. 

पहली कक्षा में पढ़ रही एक छात्रा के पिता ने बताया ‘जब मेरी बेटी स्कूल से वापस घर आई तो मैंने देखा उसकी लेगिंग्स नहीं थी.जब मैंने उससे पूछा कि बेटा आप जो सुबह लेगिंग्स पहनकर कर गए थे वो कहां गई? तो उसने जवाब दिया कि क्लास टीचर ने टिफिन टाइम में वो उतरवा ली

इन लोगों का कहना है, नौ से पांच साल तक की ये बच्चियां सर्दियां आते ही स्कूल में लेगिंग्स पहनकर जाती हैं, ताकि इनकी टांगों में ठंड ना लगे. इस सोमवार मौसम ठंडा था, इसलिए ज्यादातर बच्चियां स्कूल ड्रेस के साथ लेगिंग्स पहनकर गई थी.

आगे इस पिता ने बताया ‘मुझे पता चला टीचरों ने ऐसा प्रिंसिपल के कहने पर किया और मेरी बेटी पिछले दो सालों से लेगिंग्स पहन रही है. जब हमने प्रिंसिपल से बात की तो उसने इस बात के लिए माफी मांगी और बताया कि बच्चों की लेगिंग्स जबरन नहीं उतरवाई गई बल्कि स्कूल ड्रेस से मैच ना होने पर उनकी लेगिंग्स को सबमिट कर लिया गया.

इस मामले पर कोलकाता, पश्चिम बंगाल की शिक्षा मंत्री पार्था चैटर्जी ने कहा, ‘हम इस मामले पर सख्त एक्शन लेंगे और इस बारे में आईसीएसई बोर्ड से बात करेंगे.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *